ताजा खबर

बुद्ध सिद्धांतों से विश्वल्याण संभव: मियो औंग, सुभारती विवि में अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन सं

मेरठ- सुभारती विश्वविद्यालय सरदार पटेल प्रेक्षागृह शनिवार को अंतराष्ट्रीय बौद्ध सम्मेलन का गवाह बना। तेरह देशों के करीब 130 बौद्ध भिक्षुओं, विद्वानों ने यहां स्थित बोधि वृक्ष के दर्शन किये और बुद्ध प्रतिमा के समक्ष पूजा-अर्चना की। दो सत्रों में हुए सम्मेलन में शोध-पत्र प्रस्तुत किये गए। सुभारती विवि की इस पहल की सभी ने मुक्त कंठ से सराहना की और समवेत स्वर में कहा कि यहां से बौद्ध धर्म की कला और संस्कृति के प्रचार-प्रसार की जो शुरुआत हो रही है, वह समूचे विश्व को सार्थक संदेश देगी। विवि की यह बड़ी उपलब्धि है। 
सम्मेलन को बतौर मुख्य अतिथि भारत में म्यांमार के राजदूत डाक्टर मियो औंग ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि सुभारती विवि की यह पहल उल्लेखनीय है। बौद्ध कला और संस्कृति के प्रचार-प्रसार के लिए यह अनूठा कदम है।  विशिष्ट अतिथि के रूप में मंच पर मौजूद औंग की पत्नी नीलार औंग ने भी कार्यक्रम की सराहना की,  इससे पहले मियो औंग ने म्यांमार की  ओर से सुभारती विवि परिसर में स्थित बोधि वृक्ष के नीचे महात्मा बुद्ध की प्रतिमा स्थापित किये जाने का प्रस्ताव रखा।  कहा की आज विश्व के सामने सबसे बड़ी चुनौती आक्रोश से भरी घटनाएं हैं। वहीं, समाज के सामने असमानता मुंह बाए खड़ी है। दरअसल, यह स्थिति आपदा का रूप ले रही है, लेकिन इनका हल बुद्धिज्म में है। बुद्ध का संदेश हर परेशानी का हल है। 
इसी कड़ी में स्विटजरलैंड के विद्वान डाक्टर म्यो हाई ने कहा की बौद्ध धर्म की महायान, थेरावदा और वज्रायन यह तीनों शाखाएं विश्वल्याण के लिए कारगर हैं। 
सम्मेलन की अध्यक्षता कर रहे अंतरराष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ के महासचिव धम्मापिया ने कहा कि  बौद्ध धर्म की तीनों शाखाओं के अनुयायी मिलजुल कर विश्वशांति के लिए प्रयत्न करे। 


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


Breaking News


पहली बार प्रैक्टिस मैच उत्तर प्रदेश VS बंगाल


अब हर 18 वर्षीय बच्चे होंगे मतदाता की सूची में शामिल


मेरठ के समाचार




कुलविंदर सिंह ने रोडवेज के नव निर्वाचित कर्मचारियों को शपथ ग्रहण करवाया

इस्माइल कॉलेज में अन्तर्राष्ट्रीय quiz प्रतियोगिता आयोजित, मोनिका सिंह, वाणी, अलीना रहीं विजेता