ताजा खबर

एक और तकनीक की हो रही खोज अपने बच्चों को बचाने के लिए

इस तरह से नवजात बच्चों में अचानक होने वाली मौत को रोका जा सकेगा । वैज्ञानिक एक ऐसी नली या ट्यूब तैयार कर रहे  हैं जो छोटे बच्चों की सांसों को रिकॉर्ड कर लेगा। इतना ही नहीं इस ट्यूब के माध्यम से  दूर बैठे मां-बांप को ये पता चल जाएगा उनका बच्चा ढंग से सांस ले पा रहा है या नहीं। 
 
यूके की ससेक्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने इस ट्यूब का एक प्रोटोटाइप तैयार किया है। इसकी अच्छी बात ये है कि यह बच्चे के शरीर पर एक बेल्ट की तरह बंध जाता है। इस ट्यूब में ग्रेफीन, पानी तथा तेल का मिश्रण भरा होता है। इस मिश्रण की अहम बात यह है कि जैसे ही ट्यूब, सांस लेने से या फिर ब्ल्ड प्रेशर बढ़ने से हल्का सा भी खिंचता है तो इस तरल पदार्थ के अंदर कुछ बदलाव हो जाते हैं। 
 
स्मार्टफोन से मिलेगी धड़कनों की जानकारी -
 
 
ट्यूब में रिकॉर्ड होने वाली सांसों एवं दिल की धड़कनों को स्मार्टफोन एप से कनेक्ट करके सारी जानकारी ली जा सकती है। इसे बनाने वाले वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह तकनीक कम पैसों में बनाई जा सकती है। साथ ही उन्होंने कहा है कि अगले 2-4 सालों में इस ट्यूब को बाजार में लाया जा सकेगा।
 
 
 
 
Attachments area
 
 
 
 
 


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


करन पब्लिक स्कूल में होगा क्रिकेट टूर्नामेन्ट का आयोजन


सपा के विस पदधिकारियों ने किया मंथन


खरखौदा पुलिस पर लूट का आरोप


मेरठ के समाचार