ताजा खबर

सीख लीजिए ये तरीका यदि लाउड म्यूजिक से कानों को बचाना है

अगर आप ईयरफोन पर तेज आवाज में म्यूजिक सुनने के आदी हैं तो आपके कान हमेशा के लिए खराब हो सकते हैं। विशेषज्ञों ने एक बार फिर आगाह करते हुए कहा है कि अधिकतर लोग इस बात को नजरअंदाज कर रहे हैं पर ये आदत बेहद खतरनाक है। न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी के ध्वनि वैज्ञानिक विलियम शैपीरो ने लाउड म्यूजिक के खतरे को विस्तृत रूप से समझाया है।
 
कैसे होते हैं कान खराब
डॉ शैपीरो ने बताया है कि हर पांच में से एक किशोर किसी न किसी तरह की सुनने की परेशानी से जूझ रहा है। उन्होंने बताया कि कानों की अंदर मौजूद हिस्से में छोटे-छोटे बाल होते हैं जो ध्वनि को तरंगों के रूप में कैच करते हैं। ये बाल ध्वनि को पहचानने और समझने के लिए सबसे जरूरी होते हैं। हालांकि ये बाल बेहद नाजुक होते हैं और एक भी बाल नष्ट होने से सुनने की बीमारी हो सेकती है।
 
इस तरह ईयरफोन से खराब होते हैं कान
डॉ शैपीरो ने कहा, 'जब लोग ईयरफोन लगाते हैं तो वो ईयर ड्रम के करीब पहुंचकर इन्ही बालों को नुकसान पहुंचाता है। लोग जितना म्यूजिक लाउड करते हैं उतना ही ज्यादा खतरा इन बालों पर भी पड़ता है।'
 
यदि ऐसे सुनेंगे म्यूजिक तो नहीं होगा कानों को नुकसान
डॉक्टर शैपीरो ने बताया कि अगर आप ईयरफोन से म्यूजिक सुन रहे हैं तो सबसे बेहतर तरीका है कि सिर्फ 60 पर्सेंट वॉल्यूम पर सुनें और पूरे दिन में 60 मिनट से ज्यादा न सुनें।


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


योग : आइए जानें क्या है योग, योग अंतरराष्ट्रीय योग दिवस


Breaking News


योग के बारे में जानकारी देते योग गुरु स्वामी कर्मवीर


मेरठ के समाचार