ताजा खबर

ज्वालामुखी मंदिर का रहस्य

ज्वाला देवी का प्रसिद्ध ज्वालामुखी मंदिर हिमाचल प्रदेश के कालीधार पहाड़ी के मध्य में स्थित है। यह भी भारत का एक प्रसिद्ध शक्तिपीठ है, जिसके बारे में मान्यता है कि इस स्थान पर माता सती की जीभ गिरी थी। माता सती की जीभ के प्रतीक के रुप में यहां धरती के गर्भ से लपलपाती ज्वालाएं निकलती हैं, जो नौ रंग की होती हैं। इन नौ रंगों की ज्वालाओं को देवी शक्ति का नौ रुप भी माना जाता है। ये देवियां है: महाकाली, अन्नपूर्णा, चंडी, हिंगलाज, विन्ध्यवासिनी, महालक्ष्मी, सरस्वती, अम्बिका और अंजी देवी।
 
किसी को यह ज्ञात नहीं है कि ये ज्वालाएं कहां से प्रकट होती  हैं? ये रंग परिवर्तन कैसे होता है? आज भी लोगों को यह पता नहीं चल पाया है यह प्रज्वलित कैसे होती है और यह कब तक जलती रहेगी? कहते हैं, कुछ मुस्लिम शासकों ने ज्वाला को बुझाने के प्रयास किए थे, लेकिन वे सफल नहीं रहे।


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


पुलिस द्वारा पकडे गए चारो बलात्कारियो के बारे में जानकारी देतीं एसएसपी मंजिल सैनी


स्वामी विवेकानन्द जी के जन्म दिवस पर मूर्ति पर माल्यार्पण करते कायस्थ समाज के लोग


Breaking News


मेरठ के समाचार