ताजा खबर

घातक श्वास रोग है सीओपीडी : डॉ अमित अग्रवाल

मेरठ। न्यू मार्केट बेगम पुल स्थित छाती रोग विशेषज्ञ डॉ अमित अग्रवाल ने सीओपीडी विश्व दिवस के अंतर्गत हृदय व दिमाग रोग से संबंधित जानकारी देने के अलावा इस इलाज के बारे में भी बताया यह सब उन्होंने अपने क्लीनिक में प्रेस वार्ता के दौरान बताया। डॉ अमित अग्रवाल ने सीओपीडी मशीन के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस मशीन में क्रोनिक आब्स्ट्रकटीव पल्मोनरी डिजीज के बारे में पहली स्टेज में ही जानकारी मिल जाती है। सीओपीडीए फेफड़ों की बीमारी है। यह बीमारी संक्रामक बीमारी नहीं है। अधिकतर सीओपीडी के मरीजों की उम्र कम से कम 40 वर्ष की होती है, परंतु यह 40 वर्ष से कम उम्र के व्यक्तियों को भी हो सकती है। यह अधिकतर उन व्यक्तियों को होती है जो धुम्रपान करते हैं या पहले पहले करते थे। कुछ व्यक्तियों को सीओपीडी स्टोव या घर को गर्म रखने वाले हीटर से निकलने वाले धुए के कारण होती है। कुछ व्यक्तियों को यह इसलिए होती है कि वह लगातार ऐसी जगह पर काम करता है जहां वातावरण में लगातार धूल-धुआ मौजूद होता है। पहली बार सांस की तकलीफ शुरू होने या फिर ऐसी खांसी होने पर जो लगातार एक महीने तक बनी रहे वह अपने डॉक्टर को अवश्य दिखाएं। अधिकतर लोग तब तक डॉक्टर के पास नहीं आते जब तक उनकी सांस की तकलीफ बहुत ज्यादा नहीं बढ़ जाती। वे सालों तक अपनी खांसी और सांस की तकलीफ के प्रति लापरवाही दिखाते रहते हैं 


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


एंटी करप्शन की टीम ने यूनिवर्सिटी से रिश्वत लेते हुए किया एक बाबू को गिरफ्तार


दस दिवसीय संस्कृत कार्यशाला का समापन


Evening News 17 JUNE 2019


मेरठ के समाचार