ताजा खबर

सेना प्रमुख ने चीन और भारत को लेकर दिया बड़ा बयान

जैविक, 'रासायनिक,  रेटियोलॉजिकल एवं परमाणु हथियारों के इस्तेमाल का खतरा आज वास्तविकता का रुप धारण कर रहा है।'  सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने डीआरडीओ कार्यशाला एवं  सीबीआरएन रक्षा प्रौद्योगिकियों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया था । 
 
उन्होंने कहा है कि सीबीआरएन हथियारों का इस्तेमाल मानव जगत एवं व्यापार जगत को खतरे में डाल सकता है। जिसकी भरपाई करने में एक लंबा समय लग जाएगा। खतरनाक हथियारों से निपटने के लिए, रावत ने "सुरक्षा तकनीकों, उपकरणों एवं  प्रणालियों को विकसित करने व सैनिकों को प्रशिक्षण प्रदान करने का सुझाव दिया।'  इससे पहले भी सेना प्रमुख ने हथियारों के इस्तेमाल पर खुलकर अपने विचार रखे हैं। उन्होंने हमेशा से हथियारों के इस्तेमाल में भी 'मेड इन इंडिया' पर जोर दिया है। 


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


पहली बार प्रैक्टिस मैच उत्तर प्रदेश VS बंगाल


अब हर 18 वर्षीय बच्चे होंगे मतदाता की सूची में शामिल


कुलविंदर सिंह ने रोडवेज के नव निर्वाचित कर्मचारियों को शपथ ग्रहण करवाया


मेरठ के समाचार