ताजा खबर

कर्नाटक सियासी संकट का मामला सुप्रीम कोर्ट में पहुंचा

कर्नाटक सियासी संकट का मामला अब सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गया है. कांग्रेस और जेडीएस के 10 बागी विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ याचिका दाखिल की है. मामले की सुनवाई के दौरान बागी विधायकों की तरफ से वकील मुकुल रोहतगी ने कहा कि स्पीकर अपने दायित्य का पालन नहीं कर रहे हैं. कर्नाटक में अजीब परिस्थिति है. विधायकों को जनता के बीच दोबारा जाना भी है.
दूसरी ओर कांग्रेस ने बेंगलुरु में मंगलवार को पार्टी के उन 10 बागी विधायकों में से नौ को अयोग्य घोषित करने की मांग की. इन विधायकों ने कर्नाटक विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है. कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया ने कहा, "हमने अध्यक्ष के.आर. रमेश कुमार को दलबदल विरोधी कानून के तहत 9 बागी विधायकों को अयोग्य ठहराने के लिए आवेदन दिया है."
हालांकि, पार्टी ने वरिष्ठ विधायक रामलिंगा रेड्डी को अयोग्य घोषित नहीं किया है, इसलिए उम्मीद है कि वह जल्द ही अपना इस्तीफा वापस ले लेंगे. जनता दल-सेकुलर (जेडीएस) के तीन विधायकों सहित 13 बागियों में से 12 ने 6 जुलाई को इस्तीफा दे दिया था, जबकि कांग्रेस विधायक आनंद सिंह ने 1 जुलाई को इस्तीफा दिया. सिद्धारमैया ने राज्य सचिवालय में दो घंटे की लंबी बैठक के बाद कहा, "हम बागियों से आग्रह करते हैं कि वे अपना इस्तीफा वापस लें और पार्टी में रहें."
 


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


कारगिल जीत की 20 वीं सालगिरह पर विजयपथ का आयोजन


पर्यावरण एवं स्वच्छता क्लब ने तुलसी के पौधे किये विपरित


धर्मेंद्र की उस कॉल का राज, जिससे टूट गई थी हेमा जितेंद्र की शादी!


मेरठ के समाचार