ताजा खबर

27 वर्ष बाद वर्ल्‍ड कप में हुआ बड़ा चेंज, टॉप टीमों पर मंडराया ‘खतरा’

नई दिल्ली। इंग्‍लैंड एंड वेल्‍स में 30 मई को आईसीसी क्रिकेट विश्‍व कप 2019 का शंखनाद होगा, जबकि 27 वर्ष बाद राउंड रॉबिन और नॉकआउट फॉर्मेट के रूल के तहत खेले जाने की वजह से क्रिकेट के इस महाकुंभ का मजा दोगुना होना तय लग रहा है। यद्यपि, फॉर्मेट बदल जाने से इस बार विश्व कप में क्रिकेट की टॉप टीमों के लिए खतरा उत्पन्न हो सकता है।

यह फॉर्मेट बेहद दिलचस्प है, क्‍योंकि टूर्नामेंट में शामिल लेने वाली सभी टीमों के बीच कड़ी प्रतिस्‍पर्धा दिखाई पड़ती है। यही नहीं, विश्व कप में  शामिल किसी टीम को कमजोर या हल्‍के में नहीं लिया जा सकता। आखिर बराबर अवसर मिलने की वजह से हर टीम का उत्साह बढ़ता है और वह विरोधी टीम की धज्जियां उड़ा सकती है। सच कहा जाए तो बेशक विश्वभर के क्रिकेट एक्सपर्ट इंडिया, इंग्‍लैंड, ऑस्‍ट्रेलिया, न्‍यूजीलैंड और पाकिस्‍तान जैसी टीमों पर दांव लगाना लाइक कर रहे हों, लेकिन यहां अफगानिस्‍तान, वेस्‍टइंडीज और बांग्‍लादेश जैसी टीमें भी टॉप चार में पहुंच सकती हैं।

अंतिम बार 1992 के विश्व कप में दिखा था ये फॉर्मेट
सन्  1992 के विश्व कप में नौ टीमें शामिल हुईं थीं। इनमें से न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, साउथ अफ्रीका और पाकिस्तान सेमीफाइनल में पहुंचे थे। राउंड रॉबिन और नॉकआउट फॉर्मेट के अंतर्गत नंबर 1 न्‍यूजीलैंड और नंबर 4 पाकिस्‍तान के बीच मुकाबला हुआ। इसमें पाकिस्तानी इमरान खान की टीम 4 विकेट से बाजी मारकर फाइनल में पहुंच गई।
उधर नंबर 2 पर रहने वाली इंग्‍लैंड टीम ने नंबर 3 साउथ अफ्रीका को 20 रन से हराकर फाइनल में पाकिस्‍तान से भिड़ने का मौका हासिल किया था। इस मुकाबले में साउथ अफ्रीका की टीम विवादित नियम (Most Productive Overs method, तब डकवर्थ-लुइस रूल नहीं था)  के कारण पराजित हो गई थी। बारिश के कारण से ये मैच 45-45 ओवर का खेला गया था। 253 रन का लक्ष्‍य लेकर उतरी अफ्रीकी टीम के 43वें ओवर की एक गेंद रहते बारिश आ गई। अब उसे जीत के लिए 13 गेंदों पर 22 रन बनाने थे, जो कि कठिन चैलेंज नहीं था, परन्तु दो ओवर का खेल बारिश की वजह से बर्बाद हो जाने के कारण मैच शुरू होने पर उसे  एक गेंद पर 22 रन बनाने थे, जो कि नामुमकिन था। रंगभेद की पाबंदी के बाद अफ्रीकी टीम ने दम तो दिखाया, लेकिन नये रूल ने उसका खेल बिगाड़ दिया। आखिरकार इमरान की पाकिस्तानी टीम ने इंग्‍लैंड को 22 रन से पीटकर अपना पहला खिताब जीत लिया। यह इमरान खान का आखिरी वनडे मुकाबला भी था।

आखिर क्या है राउंड रॉबिन और नॉकआउट फॉर्मेट...?
राउंड रॉबिन और नॉकआउट फॉर्मेट में सभी टीमें आपस में मैच खेलती हैं। 2019 विश्‍व कप में कुल 10 टीमें शामिल हो रही हैं और ये सभी एक-दूसरे के विरुद्ध मैच खेलेंगी। यानि सभी दस टीमों को 9-9 मैच खेलने का अवसर मिलेगा और टॉप की चार टीमें सेमीफाइनल के लिए क्‍वालिफाई कर जाएंगी। तदुपरान्त यहां नॉकआउट दौर शुरू होता है, यानि एक मुकाबला हारते ही टीम का टूर्नामेंट से पत्‍ता गोल। प्‍वाइंट टेबल में नंबर 1 पर रहने वाली टीम की नंबर 4 से तो नंबर 2 और नंबर 3 की टक्कर होगी। दोनों मैचों की विजेता टीमों को फाइनल खेलने का अवसर मिलेगा और फिर 15 जुलाई को विश्व को वर्ल्‍ड कप चैंपियन मिल जाएगा।

 
 


इस खबर पर अपनी राय दे

*

ताज़ा वीडियो


Evening news 01 September 2019


MIDDAY NEWS 01 September 2019


01 सितंबर का इतिहास


मेरठ के समाचार